Profit and Loss: Hello Friends आज के इस Article में हम आपके लिए लेकर आए हैं “Profit and Loss” से सम्बंधित एक महत्वपूर्ण PDF जो की Hindi में Available है।

Profit and Loss

Profit and Loss

दोस्तों, सबसे पहले हम बात करते हैं कि Profit and Loss क्या होता है, Profit (लाभ) और Loss (हानि), इसे आप ऐसे समझ लें कि जब आप किसी चीज को बेचते हैं तब आपको या तो Profit होता है और या तो Loss अब Mathematics में यह एक बहुत ही Important Topic है।

क्योंकि Business के लिए या Office Work के लिए आपको इस Topic की जरुरत होती है। इसके साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं में भी Profit and Loss Topic से हमेशा ही प्रश्न पूछे जाते हैं। इसलिए यह Topic आपके लिए थोड़ा अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है।

Introduction of Profit and Loss

Cost Price (क्रय मूल्य)

क्रय मूल्य उस मूल्य को कहते हैं जो की एक वस्तु का Original मूल्य होता है। मान लीजिये आपने एक पंखा Rs 500 में ख़रीदा और उसे Rs 700 में बेच दिया, लेकिन आपने उसे सिर्फ Rs 500 में ही ख़रीदा था जिस वजह से आपके लिए उस पंखे का मूल्य Rs 500 ही था।

Selling Price (विक्रय मूल्य)

जब एक वस्तु को किसी एक Price पर बेचा जाता है तो वह उस वस्तु का विक्रय मूल्य बन जाता है। जैसे आपने एक पंखा Rs 500 में ख़रीदा तो वह आपका क्रय मूल्य था लेकिन जब आपने उसे Rs 700 में बेचा तो आपके लिए Selling Price Rs 700 था।

Marked Price (अंकित मूल्य या सूची मूल्य)

जब किसी Product पर एक Price पहले से दी गयी हो तो उसे अंकित मूल्य कहा जाता है क्योंकि वह Price उस Product पर पहले से ही लिखी गयी होती है। जैसे- मान लीजिये आप Market से एक साबुन खरीदने जाते हैं तब आपको उस साबुन पर एक Price दिया गया होता है। वह Price ही अंकित मूल्य होता है।

Profit (लाभ)

जब किसी वस्तु विक्रय मूल्य उसके क्रय मूल्य से अधिक हो तो Profit होता है। जैसे आपने एक पंखा Rs 500 में खरीदकर Rs 700 में बेचा तो ऐसे में आपको Rs 200 का Profit हो गया जिसे लाभ कहा जाता है।

Loss (हानि)

जब किसी वस्तु का क्रय मूल्य उसके विक्रय मूल्य से अधिक तो हानि होती है। जैसे मान लीजिये आपने एक पंखा Rs 500 में ख़रीदा लेकिन वह पंखा आपको Rs 400 में बेचना पड़ा ऐसे में आपको Rs 100 का नुकसान हो गया इसे ही Loss कहा जाता है।

Formula of Profit and Loss

  1. क्रय मूल्य (Cost Price) = विक्रय मूल्य (Selling Price) – लाभ (Profit)
  2. क्रय मूल्य (Cost Price) = विक्रय मूल्य (Selling Price) + हानि (Loss)
  3. लाभ (Profit) = विक्रय मूल्य (Selling Price) – क्रय मूल्य (Cost Price)
  4. हानि (Loss) = क्रय मूल्य (Cost Price) – विक्रय मूल्य (Selling Price)
  5. प्रतिशत लाभ (Percentage of Profit) = लाभ (Profit) * 100 / क्रय मूल्य (Cost Price)
  6. प्रतिशत हानि (Percentage of Loss) = हानि (Loss) * 100 / क्रय मूल्य (Cost Price)

Questions on Profit and Loss

1 Q – किसी वस्तु का क्रय मूल्य Rs 400 है, इसे 25% हानि पर बेचा जाता है। तब उस वस्तु को कितने रुपया में बेचा जाता है ?

2 Q – किसी वस्तु को Rs 7200  में बेचने पर 20% का लाभ होता है, तो उस वस्तु का क्रय मूल्य ज्ञात कीजिये ?

3 Q – किसी वस्तु को Rs 1440 में बेचने पर 10% की हानि होती है, उसे कितने रूपए में बेचा जाए कि 15% का लाभ हो ?

ऐसे की बहुत सारे Important Questions और उनके Answers निचे दी गयी PDF File में उपलब्ध है, जिसमें सभी प्रश्नो को हल करने के तरीके के बारे में भी बताया गया है, आप Starting के 10 प्रश्नों का पहले अभ्यास करें और उसके बाद बाकी के प्रश्नों को खुद हल करने का प्रयत्न करें, अगर आपको हल ना मिले तब आप PDF में उस प्रश्न का हल देख लें, जिससे आपको अच्छी practice हो सकती है।

इस प्रकार आप आसानी से Profit and Loss Topic को समझ कर उसे हल करना सिख सकते हैं, अब इस Topic में अगर आपका कोई और सवाल है तो आप हमें Comment Box में जरूर बताएं, हम कोशिश करेंगे कि जल्द से जल्द हम आपको आपके प्रश्न का उत्तर दे सकें।

Profit and Loss PDF Download

  • Name of eBook: Profit and Loss
  • Number of Pages: 18
  • Quality of Pages: Very Good (Hand Writing)
  • Format: PDF File
  • File Size: 5.34 MB
  • Language: Hindi
  • Sharing Credit: Latest Carer News

Profit and Loss Live Review

इन्हें भी जरूर पढ़ें

Disclaimer: Latest Carer News Website केवल Educational Purpose के लिए बनाई गयी है। अतः हमारी Website पर उपलब्ध सभी PDF/eBook/Notes/Material के मालिक नहीं है, ना ही उन्हें हमने बनाया और Scan किया है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Material को जरुरत के अनुसार आपको प्रदान करते हैं। इसलिए अगर आपको हमारे द्वारा Share किये गए किसी उत्पाद से समस्या या कानून का उल्लंघन है तो आप हमें [email protected] पर सूचित करने का कष्ट करें।

दोस्तों आप Social Media जैसे Facebook पर हमारे Latest Post के Notification पाना चाहते हैं तो आप हमारे Facebook Page को जरूर Like करें, और अगर आप Facebook पर हमारे साथ जुड़कर अपनी Knowledge और  Information को Share करना चाहते हैं तो हमारे Facebook Group General Knowledge को जरूर Join करें धन्याद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here